एक बेहतर प्रजेंटर बने। Become a Good Presentor.

अकसर प्रेजेंटेशन के लिए कई बातों की जरुरत होती है। आपको अपने श्रोताओं की जरूरतों का अंदाजा होना चाहिए। आपके पास पहले से कोई रोचक, सम्पूर्ण और सबका ध्यान खींचने वाला कंटेंट होना चाहिए। साथ ही अपनी बात को सबके सामने रखने का आत्मविश्वास होना चाहिए। अपने माहौल की समझ के साथ-साथ आपको यह ध्यान रखना भी आवश्यक है कि आपके सन्देश का असर अधिक लोगों तक पहुँचे।




अपने श्रोताओं के बारे में जाने।


आपको सुनने वालों के बारे में सबसे पहले पता लगाना चाहिए की वे कौन हैं? इसके बाद यह जानना जरुरी होता है कि वे प्रेजेंटेशन से क्या चाहते हैं? उनके लिए क्या सूचना नयी होगी क्या पुरानी? क्या उनकी कुछ विशेष जरूरतें हैं, जिनका आपको ध्यान रखना चाहिए? इसके लिए ये जरुरी है की आपको प्रेजेंटेशन की आउटलाइन स्पष्ट हो। दरअसल, आपको सुनने वाले यदि संतुष्ट रहते हैं तो समझिये आपकी प्रेजेंटेशन सफल रही।

 

अपने कंटेंट को तैयार करें।

 

वहीँ अपने कंटेंट को तैयार करना इस पर भी निर्भर करता है कि आप किस किस्म का प्रेजेंटेशन देने जा रहे हैं। फिर भी जरुरी हैं आप मुख्य बिन्दुओं की पहचान कर लें। यह जरुरी नहीं होता की श्रोताओं के सामने हर डिटेल रखी जाये। बेहतर प्रेजेंटेशन दर्शकों को विषय की अतिरिक्त जानकारी देती है, इसलिए जरुरी है कि विषय की आउटलाइन से शुरुआत की जाए। श्रोताओं को बताएँ की आप क्या विषय उठाना चाहते हैं, ताकि उनकी अपेक्षाएं शुरू में ही स्पष्ट हो जाए।इससे विषय के प्रति कौतुहल भी बना रहता है। एक अन्य तथ्य यह भी है कि प्रेजेंटेशन की शुरुआत और अंत जोरदार तरीके से हो। यदि शुरुआत में आप श्रोताओं का ध्यान नहीं खींच पाए तो यह आपके पक्ष में नहीं जाता। साथ ही बीच-बीच में रोचक उदाहरण देने भी जरुरी होते हैं।

 

बॉडी-लेंगुएज का ध्यान रखें

 

सबसे मजेदार कंटेंट बेअसर हो जाता है जब प्रजेंटर का स्टाइल उसके अनुरूप ना हो। कई लोग प्रेजेंटेशन के दौरान नुर्वस हो जाते हैं, जिसका असर उनके बोलने और बॉडी लैंग्वेज पर पड़ता है। यही कुछ रुकावटें हैं, जिन पर काबू पाना जरुरी होता है। आत्मविश्वास बढ़ने के साथ-साथ यह कमियां दूर हो जाती हैं और आत्मविश्वास बढाने के लिए अभ्यास, लचीलापन और कंटेंट की अच्छी जानकारी होना बेहद जरुरी होती हैं।




अगर आपका कोई सवाल है तो आप बेजिझक हो कर पूंछ सकते हैं।



वापस होम पर जाने के लिए यहाँ क्लिक करें. 

No comments:

Post a comment